प्रधान मंत्री कौशल विकास योजना (पीएमकेवीवाई)

दिनांक : 15/07/2015 - | सेक्टर: कौशल विकास / रोज़गार

बारे में

प्रधान मंत्री कौशल विकास योजना (पीएमकेवीवाई) (2016- 2020) कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय (एमएसडीई), भारत सरकार (भारत सरकार) की एक प्रमुख और अनुदान और परिणाम-आधारित कौशल प्रशिक्षण योजना है। इसे राष्ट्रीय कौशल विकास निगम (एनएसडीसी) द्वारा कार्यान्वित किया जा रहा है।

देश की सबसे बड़ी कौशल प्रमाणन योजना के रूप में पीएमकेवीवाई ने भारत को बड़े पैमाने पर गति और उच्च मानकों के साथ स्केल करके दृष्टि को साकार करने की परिकल्पना की है।

पीएमकेवीवाई (2016- 2020) केंद्र और राज्यों द्वारा केंद्र-राज्यों द्वारा संचालित किया जा रहा है।

प्रायोजित केंद्र-प्रबंधित (सीएससीएम) और केंद्र-प्रायोजित राज्य-प्रबंधित (सीएसएसएम) मोड- 1,2

उद्देश्य

इसका लक्ष्य विभिन्न केन्द्रीय मंत्रालयों / विभागों, भारत सरकार के विभिन्न कौशल विकास योजनाओं के कार्यान्वयन के लिए भारत सरकार (भारत सरकार) द्वारा जारी किए गए सामान्य मानदंड 4 के अनुसार पूरे देश में युवाओं के लिए कौशल विकास को प्रोत्साहित करना और बढ़ावा देना है। इस योजना के तहत पेश किए गए पाठ्यक्रम राष्ट्रीय कौशल योग्यता फ्रेमवर्क (एनएसक्यूएफ) के अनुरूप हैं।  योजना का लक्ष्य है

उद्योग को डिजाइन किए गए गुणवत्ता कौशल प्रशिक्षण लेने, नियोक्ता बनने और अपनी आजीविका कमाने के लिए बड़ी संख्या में युवाओं को सक्षम और संगठित करें।
मौजूदा कर्मचारियों की उत्पादकता में वृद्धि, और देश की वास्तविक जरूरतों के साथ कौशल प्रशिक्षण संरेखित करें।
प्रमाणन प्रक्रिया के मानकीकरण को प्रोत्साहित करें और कौशल की रजिस्ट्री बनाने के लिए नींव रखें।
चार साल (2016- 2020) की अवधि में 10 मिलियन युवाओं का लाभ पहुचाये।

लाभार्थी:

युवा पीढ़ी

लाभ:

कुशल जनशक्ति

आवेदन कैसे करें

अधिक जानकारी के लिए फ़ाइल डाउनलोड करें।
या
Http://pmkvyofficial.org का संदर्भ लें

देखें(1 MB)